zika virus – ज़ीका वायरस जानिए इसके बारे में सबकुछ

नमस्कार दोस्तों ! पिछले कुछ समय में zika virus चर्चा का विषय बन गया हे । इस वायरस ने दुनिया भर में सबको चिंतित कर दिया है । तो आइये जानते है की ज़ीका वायरस क्या है और उसके लक्षण , बचाव और उसके फैलावे के बारे में ।

zika virus

क्या है ज़ीका वायरस ?

ज़ीका वायरस एक ऐसी बीमारी है जो खास तरह के मच्छरों एडीज aegypti और एडीज अल्बोपिक्टस से फैलती है । ये वही मच्छर होते है जो डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों को फैलाते है । ज़ीका वायरस सबसे पहले 1947 में यूगांडा के ज़ीका जंगलो में पाया गया था इसलिए इसका नाम ज़ीका पड़ा ।

लक्षण 

  1. बुखार आना
  2. त्वचा पर लाल चकते पड़ना
  3. जोड़ो में दर्द होना
  4. माशपेशियों में दर्द होना
  5. सर दर्द होना
  6. आँखों का लाल होना और पानी आना

इन लक्षणों का प्रभाव 4 से 7 दिन तक रहता है ।

ज़ीका वायरस कैसे फैलता है 

ज़ीका वायरस का फैलाव एडीज मच्छरों के काटने से फैलता है । यह जिस व्यक्ति को हुआ है , गर्भावस्था के दौरान माँ से बच्चे में अन्य रूप से भी फेल सकता है । इस वायरस के फैलने से गर्भवती महिलाओ में शिशुओ में सिर का छोटा होना और जन्मजात का खतरा बढ़ जाता है ।

इससे कैसे बचा जा सकता है 

  1. मच्छर से बचाव – मच्छरों से बचने के लिए स्वच्छता रखे हमेशा मच्छरदानी का उपयोग करे , मच्छरप्रतिरोधक क्रीम और लम्बे कपडे आवश्यक पहने ।
  2. अपने आसपास पानी को ज्यादा जमा न होने दे – पानी के जमा होने से मच्छर ज्यादा होते है क्योंकि मच्छर वही प्रजनन करते है ।
  3. ज्यादा संक्रमित वाली जगह मत जाये – जहा पर ज़ीका वायरस का संक्रमण ज्यादा है वह पर मत जाये ।
  4. संक्रमित व्यक्ति से दूर रहे –  संक्रमित व्यक्ति से बचे और उनके रक्त या तरल पदार्थो से बचे ।

सलाह 

यदि आपको ज़ीका वायरस के लक्षण महसूस होतो आप अवश्य डॉक्टर की सलाह ले । गर्भवती महिलाये विशेष रूप से सावधानी रखे और किसी भी असामान्य लक्षण पर डॉक्टर की सलाह लीजिये ।

भारत में ज़ीका वायरस के मामले 

यह ज़ीका वायरस बढ़ रहा है इसलिए भारत में भी इनके कई केस दर्ज हो रहे है । ज़ीका वायरस के केस महाराष्ट्र , पुणे और कर्नाटका में देखने को मिले है । राज्यों से सरकार ने आग्रह किया है की स्वास्थ्य संचालनों को अभी सतर्क हो जाना चाहिए । ज्यादा से ज्यादा इसका प्रचार और प्रसारण करे और गर्भवती महिलाओ को सतर्क रहने का संदेश दे । इस साल कोल्हापुर , पुणे में ज़ीका वायरस का एक दो केस सामने आये है हुए सबसे ज्यादा केस कर्नाटक और पुणे में आये है । 1 जुलाई को पुणे में 6 लोग सहित 2 गर्भवती महिलाओ को संक्रमित पाया गया है ।

You may also like this : ayurvedic health tips

निष्कर्ष 

ज़ीका वायरस से बचाव के लिए सतर्कता और जागरूकता बेहद महत्वपूर्ण है । इसके बचाव के लिए सवयं को और परिवार को सुरक्षित रखने के लिए उचित कदम उठाइये और डॉक्टर की सलाह ले । हमें हमेसा जागरूकता रखनी चाहिए क्युकी हमने कोरोना वायरस जैसी भयंकर बीमारी का सामना किया है और हम नहीं चाहते है के और कोई बीमारी और फेल जाये ।

धन्यवाद !

FAQ 

ज़ीका वायरस का वाहक मच्छर कोनसा है ?

ज़ीका वायरस का वाहक मच्चर एडीज जेनेस है ।

 

 

Leave a Comment